IP Camera क्या होता है ? – IP Camera Full Form, Meaning in Hindi

आजकल कैमरे का उपयोग हर व्यक्ति द्वारा किया जाने लगा हैं। सामान्यतः विभिन्न प्रकार के कैमरे का उपयोग सामान्य फोटो खींचने या वीडियो बनाने, सुरक्षा के लिए, ट्रैफिक नियंत्रण में, रिकॉर्ड रखने के लिए, गवाही की लिए और गतिविधियों को कंट्रोल करने के लिए किया जाता हैं।

इन सभी कार्यों के लिए अलग-अलग प्रकार के कैमरे उपयोग किए जाते हैं, जैसे स्मार्टफोन कैमरा, DSLR, मिररलेस कैमरा, कॉम्पैक्ट कैमरा, एनालॉग, CCTV, वेब कैमरा, Wi-Fi कैमरा, और फिल्म एक्शन कैमरा आदि।

इन सभी प्रकार के कैमरो के बारें में तो आपने सुना ही होगा। इनमें एक IP कैमरा भी होता है, जिसके बारें में आप स्पष्टतः जानना चाहते हैं ।

तो आइए आज के इस आर्टिकल में शुरुआत से जानते है कि IP कैमरा क्या होता है, इसके फीचर्स क्या क्या है, साथ ही इसके उपयोग और लाभ क्या हैं ।

Ip camera full form

IP कैमरा का फुल फॉर्म क्या होता है ? | IP Camera Full Form in Hindi

IP कैमरा का फुल फॉर्म – Internet Protocol Camera होता हैं । इसे इंटरनेट कैमरा या नेटवर्क कैमरा भी कहा कहा जाता हैं ।

जैसे-जैसे हर क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का विकास हो रहा है, ठीक उसी प्रकार आधुनिक तकनीक और फीचर्स के साथ आने वाले कैमरे भी देखने को मिल रहे हैं । इसी प्रकार IP Camera भी काफी उपयोगी कैमरा है जो आधुनिक टेक्नोलॉजी पर आधारित है और आज के समय इसका उपयोग बहुत सी गतिविधियों के लिए किया जा रहा हैं ।

IP कैमरा क्या होता है ? | IP Camera Meaning in Hindi

एक IP Camera यानी Internet Protocol Camera एक प्रकार का डिजिटल वीडियो कैमरा होता है, जो IP नेटवर्क या इंटरनेट के माध्यम से डेटा भेजता और प्राप्त करता है ।

IP कैमरा डिजिटल या इंटरनेट सिग्नल पर कार्य करता है और इसके साथ रिकॉर्डिंग डिवाइस रखने की भी जरूरत नहीं पड़ती हैं। आप इसे दुनिया के किसी भी स्थान से इंटरनेट के माध्यम से अपने मोबाइल फोन या लैपटॉप पर कनेक्ट कर सकते है और लाइव इमेज या वीडियो देख सकते हैं।

इस IP कैमरे का उपयोग केबल नेटवर्क के माध्यम से किया जाता हैं। इसके लिए ईथरनेट केबल के माध्यम से केबल नेटवर्क को ब्रॉडबैंड मॉडेम या राऊटर से जोड़ा जाता हैं।

ip camera kya hota hai

इसके अलावा इसे अधिकतर वायरलेस तकनीक के साथ उपयोग किया जाता है, जिसमें IP Camera को Wi-Fi Router से जोड़ा जाता हैं ।

एनालॉग CCTV कैमरे की तरह इसमें रिकॉर्डिंग डिवाइस की जरूरत नहीं पड़ती हैं। यदि आप इसकी Footage को रिकॉर्ड करना चाहते है तो, इस IP कैमरा को NVR (नेटवर्क वीडियो रिकॉर्डर) के साथ जोड़ सकते हैं । इस NVR की मदद से CCTV फुटेज को आसानी से रिकॉर्ड किया जा सकता है और भविष्य के लिए सुरक्षित भी रखा जा सकता हैं ।

IP कैमरे को NVR के साथ और बिना NVR के भी उपयोग में लाया जा सकता हैं। आधुनिक तकनीकी पर आधारित इस कैमरे में आप सिग्नल्स को भेज भी सकते है और प्राप्त भी कर सकते हैं।

यह भी जानिए –

» डिजिटल डिवाइस क्या होता है ?

» Quad Camera किसे कहते है ?

IP कैमरा के उपयोग क्या है ? | IP Camera Usage in Hindi

इसका उपयोग मुख्यतः सुरक्षा ( Surveillance ) में, ट्रैफिक सिग्नल नियंत्रण या नंबर प्लेट डिटेक्शन में, स्कूलों में, हॉस्पिटलों में आदि में किया जाता हैं।

IP कैमरे का उपयोग स्कूलों में बच्चों और स्टाफ की उपस्थिति लेने के लिए, स्कूल में होने वाली गतिविधियों के नियंत्रण में भी किया जाता हैं।

ip camera hindi

इसके अलावा ट्रैफिक सिग्नल और टोल प्लाजा पर IP कैमरे की मदद से नंबर प्लेट रिकॉग्निशन और फेस डिटेक्शन किया जाता हैं।

कॉलोनियों और मार्केट में सुरक्षा को ध्यान में रखने के लिए इसका उपयोग किया जाता हैं। इसके साथ ही हॉस्पिटल, रेलवे स्टेशन आदि जगहों पर भी IP कैमरे बहुतायत में उपयोग किये जाते हैं।

IP कैमरा के फायदे क्या है ? | IP Camera Benefits in Hindi

IP कैमरे के बहुत से फायदे हैं और इसे घर बैठे या दुनिया के किसी भी स्थान से आप इसे इंटरनेट के माध्यम से क्रियान्वित कर सकते हैं।

आमतौर पर IP कैमरा के कुछ लाभ कुछ इस प्रकार है :

घर या बिजनेस स्थान की निगरानी के लिए

यदि आप अपने घर या बिल्डिंग को सुरक्षा के घेरे में रखना चाहते है, अपने बिजनेस ऑफिस की गतिविधियों पर ध्यान रखना चाहते है तो आप आसानी से इस IP सीसीटीवी कैमरे की मदद ले सकते हैं। यह बहुत अच्छी तरह से मॉनिटरिंग यानी निगरानी करने में सक्षम होता हैं।

बेहतर पिक्चर क्वालिटी 

IP कैमरे का सबसे बड़ा लाभ यह है कि, यह हाई रेसोल्यूशन पिक्चर्स प्रदान करता हैं। सीसीटीवी कैमरे में IP Camera पिक्चर/इमेज/वीडियो क्वालिटी के लिए काफी अच्छा माना जाता हैं । इसकी बेहतर इमेज क्वालिटी के कारण गाड़ियों के नंबर प्लेट को पढ़ने में और ड्राइवर के फेस को डिटेक्ट करने मदद मिलती हैं ।

अधिक जगह की निगरानी करने में सक्षम 

IP कैमरे की रेंज बहुत अधिक होती हैं। अधिक दूरी पर स्थित किसी व्यक्ति या वस्तु को इस सीसीटीवी कैमरे की मदद से आसानी से पहचाना जा सकता हैं। इसमें WDR टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाता हैं। IP कैमरे की इस तकनीक को Wide Dynamic Range कहते हैं। इसकी मदद से वीडियो के अंदर लाइटिंग को बैलेंस करके पिक्चर क्वालिटी को बेहतर बनाया जाता हैं। जिसके फलस्वरूप अधिक दूरी तक निगरानी रखने में हेल्प मिलती हैं।

कही से भी ऑपरेट या रिमोट कंट्रोल फीचर

इन कैमरों के एक फायदा यह भी है कि, इसे कही से भी ऑपरेट किया जा सकता हैं। यदि आपने अपने वर्कप्लेस या कंपनी में IP कैमरे लगाए हुए है तो आप इसे अपने घर या दुनिया मे कही से भी जहां इंटनेट उपलब्ध हो, वहां से इसे चला सकते है और गतिविधियों को कंट्रोल कर सकते हैं।

PTZ टेक्नोलॉजी 

आधुनिक IP सीसीटीवी कैमरों में PTZ टेक्नोलॉजी फीचर्स उपलब्ध होते हैं। PTZ का मतलब PAN, TILT और ZOOM होता हैं। इन कैमरों को जरूरत के हिसाब से इधर-उधर घुमाया जा सकता है, जूम किया जा सकता है और झुकाया भी जा सकता हैं। इन सब फीचर्स के संचालन के लिए कैमरे के पास जाने के जरूरत भी नही होती है और केवल इंटरनेट के माध्यम से मोबाइल या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के जरिए ही कंट्रोल किया जा सकता हैं।

ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग

IP कैमरे का सबसे बड़ा लाभ इसका ऑडियो-वीडियो रिकॉर्डिंग फीचर होता हैं। बहुत से पुराने कैमरे केवल वीडियो को सपोर्ट करते है, लेकिन यह कैमरे ऑडियो-वीडियो दोनों को सपोर्ट करते हैं। किसी भी सीसीटीवी फुटेज को ऑडियो और वीडियो के माध्यम से समझने के लिए यह IP कैमरे बहुत ही लाभदायक होते हैं।

इस प्रकार IP कैमरे का उपयोग करना काफी लाभदायक होता हैं। यह बहुत बढ़िया डिजिटल कैमरा होता है, जिसका रेसोल्यूशन भी बहुत हाई होता हैं और आमतौर पर इसका सबसे ज्यादा उपयोग सुरक्षा से संबंधित क्षेत्र में  किया जाता हैं।

Share