आईपीओ ग्रे मार्केट क्या है ? IPO में GMP – IPO Grey Market in Hindi

IPO Grey Market और IPO में GMP यानी ग्रे मार्केट प्रीमियम यह शब्द निवेशकों के बीच काफी चर्चाओं में रहते है । आज के समय हमें शेयर बाजार में कई कंपनियों के आईपीओ देखने को मिल रहे है । IPO या Initial Public Offer एक ऐसा माध्यम है, जिसके जरिए कोई कंपनी Share Market में कदम रखती है ।

इस समय IPO Market में बहुत से Investors रुचि दिखा रहे है, जिसके चलते कई कंपनियों के IPO काफी ज्यादा लोकप्रिय हो रहे है ।

जब भी कोई नया IPO आता है, तो इसके साथ IPO Grey Market Premium या आईपीओ में जीएमपी के बारे में भी काफी सुनने को मिलता है । कई IPO ऐसे होते है जिनकी आईपीओ ग्रे मार्केट में काफी ज्यादा Demand देखने को मिलती है ।

लेकिन बहुत से लोगों को यह जानकारी नही होती है की IPO में GMP क्या है, ग्रे मार्केट प्रीमियम किसे कहते है या IPO Grey Market क्या होता है । तो आज हम इसी के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है, तो आइए शुरुआत से IPO GMP के बारे में जानते है ।

Ipo grey market meaning in hindi

आईपीओ ग्रे मार्केट क्या है ? – IPO Grey Market Meaning in Hindi

आईपीओ ग्रे मार्केट या एक ऐसा बाजार होता है, जिसमे Unofficial रूप से किसी कंपनी के IPO या नए शेयर Trade किए जाते है । IPO Grey Market एक Over the counter ( OTC ) Market होता है , जहाँ कंपनी के शेयर या IPO स्टॉक एक्सचेंज पर आने से पहले खरीदे और बेचे जाते है ।

यह Stocks की Trading का एक Unofficial बाजार होता है, जिसमे आमतौर पर किसी कंपनी के नए Shares यानी IPO जारी होने के कुछ समय पहले से Trading शुरू हो जाती है । यानी इस बाजार में Stock Trading की शुरुआत किसी कंपनी के Shares की आधिकारिक रूप से Trading शुरू होने से पहले हो जाती है ।

Grey Market कैसे काम करता है ?

आईपीओ ग्रे मार्केट में IPO या Stock Trading जैसी गतिविधियां किसी कंपनी द्वारा जारी IPO Allotment के आधिकारिक माध्यम और प्रक्रिया से काफी अलग होती है । Grey Market में Traders द्वारा किसी कंपनी के Shares को Unofficially रूप से Bid और Offer किया जाता है ।

Grey Market में होने वाली Stock Trading का Settlement तब पूरा होता है, जब आधिकारिक रूप से उस Stock की Trading शुरू होती है ।

Grey Market में कोई Rules या Regulation नही होता है । क्योंकि यह एक Unofficial Market होता है । यह बाजार Marker Regulators द्वारा नियंत्रण में नही होता है, ना ही वे किसी तरह से इस बाजार में होने वाले Transactions में शामिल होते है ।

इस बाजार में IPO Applications को Buy या Sell करने के लिए कोई आधिकारिक व्यक्ति या आधिकारिक संस्था नही होती है । IPO Grey Market कुछ लोगों के छोटे समूहों द्वारा संचालित होता है और इस बाजार में होने वाली Trading एक दूसरे के परस्पर विश्वास पर की जाती है । अगर आप Grey Market में Trade करते है, तो आप यह अपने जोखिम पर करते है ।

आमतौर पर IPO Grey Market किसी कंपनी के IPO के आने से पहले और IPO शुरू होने से लेकर IPO Allotment तक चलता है ।

ग्रे मार्केट प्रीमियम क्या होता है ? IPO में GMP क्या है ? – IPO GMP Meaning in Hindi

IPO में GMP या ग्रे मार्केट प्रीमियम आईपीओ वह कीमत होती है, जिस अतिरिक्त कीमत पर Unofficial बाजार में किसी कंपनी के Shares trade किए जाते है । Grey Market में IPO की कीमत को Grey Market Price कहा जाता है ।

उदाहरण के लिए अगर किसी कंपनी के IPO की कीमत 100 रुपए है और इसका Grey Market Premium 50 रुपए चल रहा है, तो IPO List होने पर इसकी कीमत 100 + 50 यानी 150 रुपए के आसपास हो सकती है ।

आमतौर पर किसी कंपनी के शेयर के Grey Market में प्रदर्शन से यह अंदाजा लगाया जाता है की Stock Stock Exchange पर List होने पर वह IPO कैसे Perform कर सकता है और उस आईपीओ पर कितना Listing Gain मिल सकता है ।

IPO के Stock Exchange पर List होने पर Investors को जो फायदा मिलता है, उसे Listing Gain कहा जाता है ।

यह भी जानिए –

» IPO में HNI क्या होते है ? HNI श्रेणी में निवेश

» IPO Allotment Status कैसे देखते है ?

हालांकि केवल Grey Market Premium को देखकर ही किसी कंपनी के IPO को Subscribe करना हमेशा सही फैसला नही होता है, क्योकि IPO के Listing से पहले ग्रे मार्केट प्रीमियम किसी भी समय बदल सकता है ।

कई बार यह IPO GMP निवेशकों के काम आता है और कई बार काम नही आता है । किसी भी IPO का Grey Market Premium केवल निवेशकों के Sentiment की ओर इशारा करता है ।

Share